Ticker

6/recent/ticker-posts

Credit card की पूरी जानकारी। techconnection

Credit card की पूरी जानकारी


आपने अपने जीवन में क्रेडिट कार्ड के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप जो क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं वो किस तरह से आपके लिए फायदेमंद या नुकसानदेह हो सकते हैं. 


यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं, आज आप क्रेडिट कार्ड के बारे में A से Z तक की जानकारी इस पोस्ट के जरिए पा लेंगे. 
जैसे कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी, क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये, और क्रेडिट कार्ड के फायदे हिंदी में, आदि.

तो चलिए हम क्रेडिट कार्ड के बारे जानकारी में detail में जानेंगे कि आप क्रेडिट कार्ड के लिए कैसे अप्लाई कर सकते हैं. इसके अलावा हम इसका किस तरह से प्रयोग करेंगे ताकि यह हमारे लिए ज्यादा से ज्यादा फायदेमंद हो. 

आज आप क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त करेंगे और इससे  जुड़ी सारी गलत जानकारी आज खत्म हो जाएगी. 





क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी

(What is credit card in hindi) 


Credit card ka hindi में विवरण दिया जाए तो दरअसल में यह एक plastic slab money होता है जो बैंक अपने ग्राहकों को प्रदान करवाता है. क्रेडिट कार्ड को प्लास्टिक मनी भी कहा जाता है. 

यदि बात करें कि credit card kaisa hota hai तो यह एक साधारण डेबिट कार्ड की तरह ही होता है लेकिन इन दोनों में काफी अंतर होता है. 

यदि आपके पास एक नियमित आय का स्त्रोत है तो आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल अच्छे तरीके से कर सकते हैं. क्रेडिट कार्ड से आप लगभग हर जगह payment कर सकते हैं जैसे restaurants, petrol pump, bill, रिचार्ज, आदि. 

जिस बैंक ने आपको क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया है वह आपको पूरे 50 दिनों के लिए पैसों को खर्च करने की अनुमति देती है और वो भी बिना किसी ब्याज के. 

हर एक व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड का अपना एक मासिक सीमा होती है. 
क्रेडिट कार्ड का मासिक सीमा 25 हजार रुपये से लेकर 3 लाख रुपये तक हो सकती है. यदि आप समय से अपने बैंक के सारे कर्जों को भर देते हैं और आपका क्रेडिट स्कोर भी अच्छा है तो आपको अच्छी मासिक सीमा की क्रेडिट कार्ड मिल सकती है. इसलिए क्रेडिट कार्ड के प्रयोग से पहले credit card ke bare mein puri jankari बहुत महत्वपूर्ण है. 


जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है 'क्रेडिट' मतलब पहले उधार लेना और बाद में उसे चुका देना. क्रेडिट कार्ड के भी पक्ष में वैसा ही होता है, हमें सारे महीने के खर्च को 50वें दिन चुकाना होता है. 
एक बात को हमेशा ध्यान में रखें कि वह 50वां दिन आपके पहले बिल के date से जोड़ा जाता है. 

यदि किसी कारणवश हम उस दिन क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं दे पाते हैं तो हमें 36% तक ब्याज भी देना पड़ सकता है. इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप क्रेडिट कार्ड का बिल कैसे भरें, आप इसे अपने नेट बैंकिंग के साथ सीधे कनेक्ट करके अपने क्रेडिट कार्ड का बिल भर सकते हैं. 

आजकल लोग payment के लिए क्रेडिट कार्ड का ही ज्यादातर प्रयोग करते हैं. हमें उतना ही क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करना चाहिए जितना की हम उसका बिल भर सके वरना ये हमारे लिए बड़ी मुसीबत साबित हो सकती है. 


विभिन्न प्रकार के क्रेडिट कार्ड 

दोस्तों अगर आप क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी लेने जायेंगे तो आपको बहुत सारी क्रेडिट कार्ड के प्रकार मिल जायेंगे.

 हर बैंक अपने क्रेडिट कार्ड के लिए अपने ग्राहकों को अपने क्रेडिट कार्ड के बारे में सभी जानकारी देते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कौन सा कार्ड आपके लिए सही है? 

इस अंक में आप यही जानेंगे कि क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं. वैसे तो बहुत सारे क्रेडिट कार्ड होते हैं लेकिन मैंने बहुत ही महत्वपूर्ण और अधिकतर प्रयोग वाले क्रेडिट कार्ड के बारे में बताया हैं. 

Techconnection.in


1. Standard plain vanilla credit card 

 यदि आप क्रेडिट कार्ड के जटिलता को आप ज्यादा नहीं समझना चाहते तो यह क्रेडिट कार्ड आपके लिए सही है. 
इसमें आपको कोई भी payment करने पर reward नहीं मिलता. इस क्रेडिट कार्ड के यदि सारे क्रेडिट खत्म हो जाते हैं तो वापस से इसमें क्रेडिट उपलब्ध हो जाते हैं और फिर से आप उनका उपयोग कर सकते हैं. 

2. Reward credit card 

यह क्रेडिट कार्ड payment transactions पर reward देता है. यह मुख्य रूप से तीन तरह के reward प्रदान करता है- कैशबैक, points और travel. Points को आप कैश में बदल सकते हैं. लोगों में travel reward काफी पसंदीदा है. 

Travel reward से फ्री फ्लाइट, होटल और अन्य यात्रा सुविधाएं प्राप्त होती है. 


3. Student credit card 

यह क्रेडिट कार्ड सामान्य तौर पर जब कोई भी विद्यार्थी किसी कॉलेज में दाखिला लेते है तब वह इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड के लिए जा सकते हैं. 

इसमें भी आपको rewards और perks मिलता है और साथ में क्रेडिट कार्ड पर बिल पर न्यूनतम ब्याज देना होता है. 

4. Prepaid credit cards

इस क्रेडिट कार्ड में पहले आपको पैसे डालने पड़ते हैं फिर आप इसका प्रयोग कर सकेंगे. इसमें limit तब तक renew नहीं होता जब तक आप इसमें पैसे नहीं डालते (रिचार्ज) हैं. 

इसमें आपको कोई भी शुल्क नहीं देना होता है क्योंकि आपने अपने पैसों से transaction किया है. दरअसल यह क्रेडिट कार्ड नहीं होता है लेकिन यह आपके क्रेडिट स्कोर को बनाने में मददगार होता है. बहुत सारे लोग इस कार्ड का प्रयोग करना पसंद करते हैं. 

5. Business credit card

यह क्रेडिट कार्ड सामान्यत व्यापार प्रयोग के लिए डिजाइन किया जाता है. यह व्यापारियों को व्यापार और सार्वजनिक प्रयोग में विभिन्नता प्रदान करवाती है. 

इस क्रेडिट कार्ड को लेने से पहले आपका क्रेडिट स्कोर और इसका इतिहास बहुत महत्वपूर्ण होता है. Business क्रेडिट कार्ड में बहुत सारी प्रकार की standard business credit card और charge credit card मिल जाती है. 

चलिए अब जानते हैं कि credit card ke kya fayde hai और credit card ke fayde nuksan in hindi.


क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान 

(Credit card ke fayde aur nuksan in hindi) 


वैसे तो क्रेडिट कार्ड के बहुत सारे फायदे और नुकसान हैं, लेकिन उनमें से जो मुख्य है वो नीचे अंकित किए गए हैं. किसी भी क्रेडिट कार्ड के प्रयोग से पहले आप उस क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें. 

क्रेडिट कार्ड के फायदे 

(Credit card ke fayde hindi mein) 

1. क्रेडिट स्कोर :- पहली बार क्रेडिट कार्ड उपभोक्ताओं के लिए यह एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाने में मददगार होता है. 

यदि आप समय पर अपने क्रेडिट कार्ड के बिल को भरते हैं तो इससे आपका क्रेडिट स्कोर मजबूत होता है. 
यह क्रेडिट स्कोर बाद में कोई लोन या EMI पर कोई अन्य वस्तुएं खरीदने में सहायता करते हैं. 

2. खरीदारी में सरलता :- क्रेडिट कार्ड आपको खरीदारी में सरलता प्रदान करते हैं. आप कभी भी कहीं भी कोई भी वस्तु खरीद सकते हैं जब आपके पास कैश भी न हो. 

3. आपातकालीन सहायता :- जब आपको अचानक आर्थिक मदद की आवश्यकता होती है तब क्रेडिट कार्ड काफी मददगार होते हैं. यह क्रेडिट कार्ड के फायदे का सबसे मजबूत पक्ष है. 
उस वक्त आपको किसी अन्य व्यक्ति से मदद मांगने की जरुरत नहीं होती है. 


क्रेडिट कार्ड के नुकसान 

(Credit card ke nuksan) 


1. उच्च ब्याज दर :- क्रेडिट कार्ड कंपनियां ग्राहकों से उच्च दर पर ब्याज वसूल कर पैसे कमाती है. जैसा कि मैंने पहले भी बताया कि यदि आप किसी भी कारणवश अपने क्रेडिट कार्ड बिल को भरना भूल जाते हैं तो उस पर आपको 36% तक ब्याज देना पड़ सकता है. 

2. क्रेडिट कार्ड कर्ज :- लोग जब पहली बार क्रेडिट कार्ड लेते हैं तो बहुत खुश होते हैं कि अब वे इसके पैसों को 50 दिनों तक बिना किसी ब्याज के प्रयोग करेंगे. मगर बहुत सारे लोग उस बिल को समय पर नहीं भर पाते है जिससे उनका कर्ज बढ़ता जाता है. 

इसलिए आप जब भी क्रेडिट कार्ड लेने के बारे में सोच रहे हो तो अच्छे से सोच विचार जरूर कर लें. 

3. धोखाधड़ी :- आपके साथ क्रेडिट कार्ड के मामले में धोखाधड़ी भी हो सकती है इसलिए आप इस पर सावधानी जरूर बरतें. यदि आपका क्रेडिट कार्ड कहीं खो जाता है या किसी गलत व्यक्ति के हाथ लग जाता है तो यह आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है. 


क्रेडिट कार्ड कैसे प्राप्त करें

(Credit card apply) 


दोस्तों अगर आप किसी बैंक का क्रेडिट कार्ड प्राप्त  करना चाहते हैं तो आप उस बैंक से सीधा जानकारी प्राप्त कर उसे ले सकते हैं. यदि आप उस बैंक के पहले से ही ग्राहक हैं और आपका क्रेडिट स्कोर भी अच्छा है तो आपको क्रेडिट कार्ड मिलने में कोई परेशानी नहीं होगी. आप उस बैंक से credit card apply कर सकते हैं.

यदि आपके पास किसी बैंक में पहले से ही खाता है और आपका नेट बैंकिंग भी चालू है तो आप घर बैठे ही अपना क्रेडिट कार्ड मंगवा सकते हैं. 
जैसे SBI का क्रेडिट कार्ड मंगवाने के लिए आप इनके एप्प yono sbi में रजिस्टर कर सकते हैं. 


Also read



क्रेडिट कार्ड vs डेबिट कार्ड 

दोस्तों क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड दिखने में तो एक जैसे होते हैं लेकिन उनमें बहुत अंतर होता है. उन मुख्य अंतर को नीचे अंकित किया गया है. 

  • यदि संक्षिप्त में बात किया जाए तो क्रेडिट कार्ड आपको पूरे 50 दिनों के लिए पैसों को बिना किसी ब्याज के इस्तेमाल करने की अनुमति देता है. वहीं डेबिट कार्ड का प्रयोग आप तभी कर सकते हैं जब आपके बैंक अकाउंट में पैसे हो. 

  • आपको किसी भी बैंक का डेबिट कार्ड के लिए उस बैंक में आपका अकाउंट होना अनिवार्य है वहीं क्रेडिट कार्ड आपके क्रेडिट स्कोर के आधार पर दिया जाता है. 
  • क्रेडिट कार्ड से लोग अपने जरुरतों से ज्यादा खर्च करने लग जाते हैं जिससे उन पर क्रेडिट कार्ड बिल का कर्ज बढ़ने लग जाता है और बहुत परेशानी होती है. वहीं डेबिट कार्ड की बात कि जाए तो इसमें आपको कोई भी बिल देने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि इससे आप अपने पैसों को खर्च करते हैं. 

क्रेडिट कार्ड प्रयोग करने का सही तरीका 


1. संतुलन बनाए रखें :- आप अपने आय और खर्चों में एक संतुलन बनाकर रखें ताकि आप पर जरूरत से ज्यादा कर्ज न हो. इस कार्य के लिए आप एक आर्थिक सलाहकार की भी सहायता ले सकते हैं. 

2. समय पर क्रेडिट कार्ड का भुगतान करें :- यदि आप चाहते हैं कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो तो आप इसके बिल का भुगतान समय पर जरूर करें. 
आप कभी भी भूल से यह गलती न करें वरना ब्याज के रुप में आपको भारी नुकसान हो सकता है. 

3. क्रेडिट कार्ड का निरंतर प्रयोग करें :- आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल लगभग हर जगह करें जैसे सुपरमार्केट. यहां आपको कार्ड से payment करने पर छूट भी मिलती है और इससे आपके कैश पर बैंक में ब्याज भी बढ़ता है जिससे आपको फायदा हो सकता है. 




उपसंहार 

दोस्तों हमने इस आर्टिकल में जाना कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इससे जुड़ी सारी चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त किया. 
आपने जाना कि credit card kya hai, credit card ke fayde nuksan, इत्यादि और किस तरह से क्रेडिट कार्ड आपके लिए फायदेमंद या नुकसानदेह हो सकते हैं. आप हमेशा एक बात का ध्यान रखें कि कभी भी आय और क्रेडिट कार्ड के प्रयोग के संतुलन को न बिगड़ने दें. क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर नंबर पर संपर्क कर सकते हैं. 
आप कमेंट कर के जरूर बताएं कि आपको यह जानकारी कितनी लाभदायक लगी और क्या क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कोई ऐसी भी जानकारी है जिसे आप साझा करना चाहते हैं. 
.............☺️☺️

Post a comment

0 Comments